योगी सरकार के मंत्री डॉ. लालजी प्रसाद निर्मल को मिलेगा आंबेडकर रत्न

लखनऊ. 15 दिसंबर 2018. हाथ से मैला उठाने वालों को इस पेशे से मुक्त करवाने वाले उत्तर प्रदेश सरकार के दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री डॉ. लालजी प्रसाद निर्मल को आंबेडकर रत्न से सम्मानित किया जाएगा। यह सम्मान सदियों से चली आ रही कुप्रथा को हमेशा के लिए खत्म करने के प्रयास के लिए दिया जा रहा है। बुंदेलखंड स्वच्छकार स्वाभिमान मंच द्वारा यह घोषणा की गई है कि जालौन के जिलाधिकारी डॉ. अख्तर मन्नान को भी इस विशेष कार्य में सरकार के दिशा निर्देशों का पालन करने को लेकर विशेष सहयोग के लिए सम्मानित किया जाएगा।

बुंदेलखंड स्वच्छकार स्वाभिमान मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष भग्गूलाल बाल्मीकि ने कहा है कि यह सम्मान समारोह 17 दिसंबर को जिला मुख्यालय उरई में होगा। राज्यपाल राम नाईक के दिशा निर्देश पर हाथ से मैला उठाने वाले लोगों का सर्वेक्षण कर जो रिपोर्ट सरकार को भेजी गई थी, उसको लेकर सरकार ने प्रमुखता से कदम उठाते हुए इस पेशे में लगी महिलाओं को नया जीवन दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वच्छ भारत अभियान और घर-घर शौचालय की योजना से सभी के अंदर जागरुकता आई है और लोग इस पेशे से मुक्त होने के लिए प्रेरित हुए हैं।

गौरतलब है कि भग्गूलाल बाल्मीकि पिछले 50 साल से हाथ से मैला उठाने की प्रथा को बंद करवाने की लड़ाई लड़ रहे थे। उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री डॉ. लालजी प्रसाद निर्मल के प्रयासों से प्रभावित होकर उन्हें सम्मानित करने का फैसला किया है। दलितों के सम्मान की लड़ाई लड़ने भग्गूलाल बाल्मीकि दर्जनों महिलाओं को भी सम्मानित करेंगे, जिन्होंने रोल मॉडल बनकर इस पेशे को छोड़कर अन्य रोजगार कर अपना जीवन यापन कर रही हैं।

फोटोः फाइल।

Check Also

आरक्षण का विरोध करने वाली भाजपा, अब सवर्णों को देगी आरक्षण !

लखनऊ. आरक्षण को लेकर वर्ष 2019 चुनाव के लिए केंद्र की भाजपा सरकार ने नया ...