राजा भैया को जीतने के लिए चाहिए यादव और दलितों का वोट, जानिए समीकरण

फर्क इंडिया डिजिटल

कुंडा. उत्तर प्रदेश की सियासत में भले ही राजा भैया अपने को बड़ा नेता मानते रहे हैं, लेकिन असल में उनकी ये जीत दलित और यादव वोटरों की बदौलत होती रही है। खुद को निर्दलीय जीतने का दम भरने की ताकत भी राजा भैया को मुलायम सिंह यादव ने दी थी। मुलायम सिंह यादव ने पहली बार 1993 में राजा भैया के खिलाफ ताहिर को चुनाव लड़ाया था, हालांकि ताहिर चुनाव हार गए थे। इसके बाद मुलायम सिंह यादव ने राजा के खिलाफ कभी उम्मीदवार नहीं उतारे।

प्रतापगढ़ के कुंडा से 1993 में पहली बार निर्दलीय विधायक चुने गए दबंग छवि के राजा भैया प्रदेश में आधा दर्जन बार भले ही कैबिनेट मंत्री रहे हैं, लेकिन किसी भी पार्टी का दामन नहीं थामा, तो इसके पीछे मुलायम सिंह यादव का आशिर्वाद था। हालांकि अब राजा भैया को यह लगने लगा है कि वह पार्टी बनाकर अपने को ज्यादा बेहतर तरीके से सुरक्षित रख सकेंगे। लिहाजा उन्होंने पार्टी बना भी ली।

वोटों के समीकरण की बात करें तो कुंडा में करीब 70 से 80 हजार मतदाता यादव है। इसके अलावा करीब 1 लाख वोटर दलित और 22 से 26 हजार वोटर पंडित हैं। कुर्मी मतदाताओं की संख्या भी करीब 50 हजार के करीब है, लेकिन सबसे चौकाने वाली बात ये है कि यहां पर ठाकुर मतदाताओं की संख्या कुल 16 हजार के करीब ही है।

ऐसे में ये समीकरण बताते हैं कि यदि मायावती और अखिलेश यादव मिलकर उम्मीदवार उतारते हैं तो राजा भैया की राह आसान नहीं होगी। उन्हें हार का सामना करना पड़ सकता है। भले ही राजा को ये लगता है कि वह पार्टी बनाकर कई छोटे दलों से गठबंधन कर मजबूत हो जाएंगे, लेकिन समय ने करवट ली तो रिकॉर्ड टूट सकता है और राजा भैया चुनाव हार सकते हैं।

लगातार सात बार विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया 26 वर्ष की उम्र में प्रतापगढ़ के कुंडा से पहली बार निर्दलीय विधायक बने। इसके बाद उन्होंने अपना जीत का सिलसिला बरकरार रखा। हमेशा से ही रिकार्ड मतों से जीतने वाले रघुराज प्रताप सिंह भी अब शिवपाल सिंह यादव की राह पर है। उन्होंने अपना एक राजनीतिक दल बनाने का फैसला किया है। उनके साथ ही समर्थकों को भरोसा है कि प्रदेश के एक दर्जन से अधिक राजपूत नेता उनके साथ जुड़ सकते हैं। उन्होंने अपनी राजनीतिक पार्टी बनाने की कवायद शुरू कर दी है। इसके लिए उनकी तरफ से चुनाव आयोग में आवेदन भी किया जा चुका है।

Check Also

योगासन

पतले होने के लिए ये योगासन हैं राम बाण, जल्द दिखेगा फर्क !

डेस्क. दुनिया भर में लोग बढ़ते वजन और मोटापे से परेशान हैं, जिसके कारण वे ...