उपराष्ट्रपति ने करतारपुर गलियारे के लिए रखी आधारशिला, गुरू नानक देव जी को श्रद्धासुमन अर्पित किये

फर्क इंडिया डिजिटल.
दिल्ली. उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने आज पंजाब में डेरा बाबा नानक –करतारपुर साहिब गलियारे के निर्माण के लिए आधारशिला रखी है। इससे पाकिस्तान के करतारपुर में गुरूद्वारा दरबार साहिब के तीर्थस्थल तक पहुंचने के लिए सिख तीर्थयात्रियों को एक रास्ता मिलेगा। यह कार्यक्रम श्री गुरू नानक देव जी के 550वें जन्मदिवस की यादगार का प्रतीक भी था।

इस अवसर पर, उपराष्ट्रपति ने आज के दिन को ऐतिहासिक बताया। उन्होंने कहा कि एक लंबे अरसे से हमारी मांग रही है कि भारत के सिख बहनों और भाइयों को करतारपुर तीर्थस्थल तक जाने में आसानी हो।

उप-राष्ट्रपति ने कहा कि गलियारे की स्थापना की मांग के बारे में पिछले दो दशकों से विचार-विमर्श चल रहा था। उन्होंने कहा कि आज यह सपना पूरा हुआ है। इस नाते आज का दिन अत्यधिक महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि यह सचमुच बेजोड़ और सुधार की संभावनाओं वाला क्षण है।

नायडू ने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की है कि पाकिस्तान ने भारत की मांग को स्वीकार किया है और वह अपनी तरफ सुविधायुक्त गलियारा विकसित करेगा। उन्होंने कहा कि यह गलियारा हमें उस गुरू से जोड़ता है, जिनका हम सम्मान करते हैं। यह एक पवित्र स्थल है, जहां उन्होंने अपने जीवन के अंतिम 18 वर्ष बिताए थे। गुरू नानक देव जी को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए, उन्होंने उन्हें एक संत, विद्वान, कवि, मार्गदर्शक और क्रांतिकारी बताया। उन्होंने कहा कि गुरू नानक देव जी से पिछले साढ़े पांच सदियों से मानवता के लिए रोशनी मिली है।

इस गलियारे को दोनों देशों के लोगों के लिए एक सेतु बताते हुए श्री नायडू ने कहा कि यह गलियारा हमारे दोनों देशों के लोगों को जोड़ने के लिए प्रेम, सहानुभूति और साझी अध्यात्मिक विरासत के अदृश्य धागे के माध्यम से नये द्वार खोलने के साथ नई संभावनाएं तैयार करता है और दोनों देशों के लोगों को आपस में जोड़ने के लिए एक संकल्प को बढ़ावा देता है। उन्होंने कहा कि यह गलियारा शांति, भाईचारा और मानवतावाद का मार्ग होने के साथ-साथ एक परिवार के रूप में विश्व को देखने के एक व्यापक दृष्टिकोण और मानवता की सेवा के आदर्शों के व्यापक दृष्टिकोण का मार्ग है।

इस अवसर पर पंजाब के राज्यपाल वी.पी. सिंह बदनौर, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह, केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, नौवहन एवं जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी, केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल, आवास एवं शहरी मामले के मंत्रालय में राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हरदीप सिंह पुरी, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री विजय सांपला समेत अन्य उपस्थित थे।

Check Also

अजिंक्‍य रहाणे

3 साल बाद रहाणे ने की ऐसी बल्लेबाजी, टीम इंडिया की टेंशन दूर हुई !

डेस्क. टीम इंडिया के उपकप्‍तान अजिंक्‍य रहाणे को पिछले काफी समय से अपने खराब प्रदर्शन ...