रेलवे की किस क्लास में ले जा सकते हैं कितना सामान, जानें

बिजनेस डेस्क। भारतीय रेलवे में यात्रियों को अपने साथ सामान लाने और ले जाने के लिए भी कुछ नियम बने हुए हैं। इन नियमों के आधार पर यात्री अपने साथ एक तय सीमा तक फ्री में सामान ले जा सकते हैं। अगर वो ज्यादा भारी सामान अपने साथ ले जाने चाहते हैं तो उन्हें इसके लिए कुछ चार्ज देने होते हैं। ये चार्ज यात्रा के लिए चुनी गई क्लास पर निर्भर करता है।

रेलवे

एसी 1,2 और 3rd क्लास के लिए रेलवे में सामान ले जाने के लिए अलग-अलग सीमाएं तय की गई हैं।
एसी फर्स्ट के लिए फ्री अलाउंस सीमा 70 किलो, 15 किलो और अधिकतम सीमा 150 किलोग्राम है।
एसी 2 टियर के लिए फ्री अलाउंस लिमिट 50 किलो, मार्जिनल अलाउंस 10 किलो और सामान ले जाने की अधिकतम सीमा 100 किलो है।

एसी 3 टियर के लिए फ्री अलाउंस लिमिट 40 किलो, मार्जिनल अलाउंस 10 किलो है।
स्लीपर क्लास के लिए फ्री में सामान ले जाने की सीमा 40 किलो, इसमें 10 किलो का मार्जिनल अलाउंस और अधिकतम 80 किलो का सामान ले जाया जा सकता है।
सेकंड क्लास में फ्री सामान ले जाने की सीमा 35 किलो और मार्जिनल अलाउंस 10 किलोग्राम है।

यात्रा के दौरान यात्री कोच में सामान के साइज की सीमा: यात्री कोच में 100 सेमी x 60 सेमी x 25 सेमी से ज्यादा साइज वाले संदूक, सूटकेस और बॉक्स ले जाने की इजाजत नहीं है। इससे ज्यादा बड़े सामान को ले जाने के लिए पहले बुकिंग करनी होगी। इससे बड़े सामान को लगैज कोच में ले जाया जा सकता है।

इसके अलावा एसी 3 टियर और एसी चेयर कार में सामान के साइज के लिए अलग सीमा तय की गई है। इन कोच में 55 सेमी x 45 सेमी x 22।5 सेमी से ज्यादा बड़ा सूटकेस या बॉक्स नहीं ले जाया जा सकता।

बता दें कि लगैज कोच में सामान ले जाने के लिए किसी प्रकार की कोई बाध्यता नहीं है। इसमें आप अपनी जरूरत के मुताबिक, हर सामान ले जा सकते हैं। इसके लिए आपको तय किराया चुकाना होगा।

Check Also

योगासन

पतले होने के लिए ये योगासन हैं राम बाण, जल्द दिखेगा फर्क !

डेस्क. दुनिया भर में लोग बढ़ते वजन और मोटापे से परेशान हैं, जिसके कारण वे ...