लखनऊ का नीरव मोदी है साइन सिटी का मालिक राशिद नसीम, दुबई में शिफ्ट कर रहा कारोबार

साइन सिटी का फर्जीवाडा. भाग-1

लखनऊ/दिल्ली. उत्तर प्रदेश का नीरव मोदी कहे जाने वाला साइन सिटी का मालिक राशिद नसीम दुबई में अपना ठिकाना बना लिया है। उत्तर प्रदेश के प्रापर्टी कारोबार में निवेशकों के करोड़ों-अरबो रुपए को ले जाकर साइन सिटी का मालिक राशिद नसीम दुबई में सोने के कारोबार में निवेश कर रहा है, जिससे उसे भागने में मदद मिल सके। उसने अभी हाल ही में सोशल मीडिया पर लिखा भी है कि Congratulations all shine family members. Hamari company Dubai mein registered ho gai. Hum AAJ officially International ho gaye

साइन सिटी के फेसबुक पेज पर भी जाकर इसे देखा जा सकता है।

 

निवेशकों के चेक बाउंस हो रहे हैं। ये चेक उस मद के बताए जा रहे हैं, जिसे साइन सिटी ने पैसे अधिक देने या दोगुने करने के एवज में दिए थे। यही नहीं, निवेशकों को बड़े-बड़े सपने दिखाकर साइन सिटी के मालिक राशिद नसीम ने करीब 23 हजार करोड़ रुपए जमा करवा लिए हैं। ये पैसे करीब 20 से अधिक कंपनियों में निवेश के रूप में लिए गए हैं। निवेशक अब केवल अपना पैसा पाने के लिए परेशान हैं। चेक बाउंस की फोटो देने आए एक निवेशक ने तो यहां तक कहा कि वह अपना जान बचाना चाहता है। वह यहां तक डरा हुआ है कि कहीं पैसा मांगने पर राशिद नसीम के गुर्गे उसकी हत्या न कर दें।

देखिए बाउंस चेक की तस्वीरें…

निवेशकों में केवल अपने जमा रकम को पाने की चिंता अब सताने लगी है। हर कोई लाभ की बात छोड़कर अपने मूल पैसे के लिए परेशान है। बताया तो यहां तक जा रहा है कि साइन सिटी ग्रुप के मालिक राशिद नसीम के पास जितनी जमीनें नहीं हैं, उसकी 50 गुनी जमीन वह निवेशकों को कागजों पर बेच चुका है। यही वजह है कि अब राशिद नसीम के बस की बात नहीं है कि वह सभी निवेशकों को मकान या प्लाट दे पाए। उसके पास अब केवल एक ही रास्ता है कि वह इंडिया छोड़कर दुबई में जाकर बस जाए।

राशिद नसीम ने दुबई में सोने के कारोबार को शुरुकर निवेशकों की आशंका को पुख्ता कर दिया है। निवेशक जो सोच कर परेशान हैं, राशिद नसीम ने वैसा ही किया। इसने उत्तर प्रदेश के जमीन कारोबार के पैसे से दुबई में आलीशान ज्वैलरी का कारोबार स्थापित कर खुद दुबई में शिफ्ट होने का बंदोबस्त कर लिया है। इसकी गवाही राशिद नसीम के दुबई में बढ़ते कारोबार और उसकी दुबई को लेकर बढ़ रही गतिविधियां भी दे रही हैं। यही वजह है कि कहा जा रहा है कि राशिद नसीम कभी भी साइन सिटी का शटर बंद कर दुबई शिफ्ट हो जाएगा और निवेशकों को इसकी भनक तक नहीं लगेगी।

 

राशिद नसीम को उत्तर प्रदेश का नीरव मोदी कहा जाता है, जिस तरह से नीरव मोदी फरार हो गया, उसी तरह से राशिद नसीम भी फरार हो जाएगा और उत्तर प्रदेश सरकार देखती रह जाएगी। लोगों की नजर में अच्छा बने रहने और काले कारोबार को छुपने के लिए राशिद नसीम मोदी को सबसे अच्छा इंसान और आदर्श मानता है। राशिद मूल रूप से इलाहाबाद का रहने वाला है। हाल ही में उसने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की थी। उसने कहा था कि मोदी हर महीने हजारों किलोमीटर की यात्रा कर देश में व्यापार के लिए तन्मयता के साथ काम कर रहे हैं, तो हम क्यों न करें। इस तरह की गतिविधियों से राशिद अपने काले कारोबार से लोगों का ध्यान हटाना चाहता है।

निवेशकों की नजर में अच्छा बने रहने के लिए राशिद नसीम ने 51 मंदिर बनवाने की भी हाल ही में घोषणा की थी।

अगली पोस्ट में पढ़िए. साइन सिटी के फर्जीवाड़े का भाग-2

Check Also

RBI

RBI ने मानी सरकार की ये मांगे, 2 दिन बाद सिस्टम में डालेगा इतने करोड़ रुपए

बिजनेस डेस्क. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) और सरकार के बीच कई दिनों से जारी खींचतान ...