जानिए, लालू यादव ने क्यों लिखा कि फांसी हो जाए तो भी…

रांची. राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने ट्वीट के जरिए से कहा है कि वे सिद्धांतों से समझौता नहीं कर सकते, चाहे फांसी क्यों न हो जाए। आरजेडी अध्यक्ष ने एक बीजेपी से जुड़ी रिपोर्ट को अपने ट्विटर हैंडल से शेयर करते हुए लिखा कि मैं इनके दुष्प्रचार, लालच, प्रतिशोध, प्रताड़ना और किसी प्रकार की ब्लैकमेलिंग से नहीं डरता हूं। उन्होंने लिखा, ‘इनकी जातिवादी, नफरतवादी, संविधान व इंसान विरोधी जहरीली राजनीति का सबसे मुखर विरोधी हूं।’

लालू यादव

बता दें कि लालू प्रसाद यादव इस समय रिम्स के पेईंगवार्ड में भर्ती हैं। उनकी खराब सेहत में बीते रविवार को मामूली सुधार हुआ था। रविवार को उनके शुगर का लेबल 130 से घटकर 105 आ गया।

डॉक्टरों ने उन्हें खानपान में विशेष सावधानी बरतने की सलाह दी है। उन्हें खाने में प्रोटीन की मात्रा कम करने को कहा गया है।

इसके लिए मछली, मटन आदि हाई प्रोटीन डायट लेने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। मांसाहार के रूप में केवल अंडा का सफेद भाग एवं झिंगा मछली खाने की सलाह दी गई है।

IRCTC स्कैम मामले में जमानत पर 20 दिसंबर को सुनवाई

वहीं, आईआरसीटीसी स्कैम मामले में आरोपी लालू प्रसाद यादव की नियमित जमानत पर अब 20 दिसंबर को सुनवाई होगी।

लालू यादव को आज दिल्ली की पटियाला कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सोमवार को पेश होना था, लेकिन वह नहीं हुए जिसके बाद अदालत ने इस मामले की सुनवाई 20 दिसंबर तक टाल दी।

इसके साथ ही कोर्ट ने सीबीआई को आदेश दिया है कि वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई के लिए समुचित व्यवस्था करे।

Check Also

अजिंक्‍य रहाणे

3 साल बाद रहाणे ने की ऐसी बल्लेबाजी, टीम इंडिया की टेंशन दूर हुई !

डेस्क. टीम इंडिया के उपकप्‍तान अजिंक्‍य रहाणे को पिछले काफी समय से अपने खराब प्रदर्शन ...