केजीएमयू में 6 दिवसीय प्रशिक्षण शुरू, जुड़ेंगे 75 जिले

लखनऊ. प्रदेश की महिला कल्याण, परिवार कल्याण, मातृ एवं शिशु कल्याण मंत्री प्रो. रीता बहुगुणा जोशी ने आज केजीएमयू, लखनऊ के कलाम सेंटर में आकस्मिक चिकित्सा प्रबन्धन के लिए प्रदेश के 75 जनपदों से आये हुए आकस्मिक चिकित्सा अधिकारियों के 06 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, उ0प्र0 के साथ इमरजेन्सी क्राइसेस मैनेजमेण्ट सॉल्यूशन (म्ब्डै) द्वारा आयोजित किया गया है।

प्रो. जोशी ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश के 75 जनपदों के चिकित्सकों का आकस्मिक चिकित्सा आपदा के प्रबन्धन और समाधान के लिए जुड़ना एक अभिनव पहल है। यह महत्वपूर्ण है कि इस प्रकार के प्रशिक्षण का पहला आयोजन उप्र में किया जा रहा है। उन्होंने कहा जनसंख्या के दृष्टि से उत्तर प्रदेश में चिकित्सा आवश्यकतायें भी बड़ी हैं और आकस्मिकता के समय होने वाली मृत्यु भी ज्यादा होती है। ऐसे में इस प्रकार के संघ का गठन और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चिकित्सकों से यहां के चिकित्सकों का संयोजन निश्चित रूप से गहन चिकित्सा आवश्यकताओं की पूर्ति को बढ़ायेगा। उन्होंने कहा जीवनरक्षा शीर्ष प्राथमिकता का विषय है और ऐसे में ‘ऊर्जा’ (यूनीफाइड रिसोर्स जंक्चर फॉर एकेडमिक्स) का संचालन सराहनीय है।

इस अवसर पर ईसीएमएस (इमरजेन्सी क्राइसेस मैनेजमेण्ट सॉल्यूशन) की डायरेक्टर डॉ. अंकिता राय ने जानकारी दी कि मंत्री द्वारा शुभारम्भ किये गये इस कार्यक्रम ‘ऊर्जा’ (यूनीफाइड रिसोर्स जंक्चर फॉर एकेडमिक्स) में आकस्मिक चिकित्सा अधिकारियों को 22 से 27 अक्टूबर तक 06 दिन प्रशिक्षण दिया जायेगा। प्रशिक्षण में मुख्य रूप से सड़क दुर्घटना, ज़हर खुरानी (किसी भी प्रकार के विष का दिया जाना), हृदयाघात, मस्तिष्क आघात (ब्रेन स्ट्रोक), मातृ एवं शिशु आकस्मिकता तथा बेसिक डिजास्टर प्रबन्धन का प्रशिक्षण दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण प्राप्त चिकित्सक 05 देशों कनाडा ऑस्ट्रेलिया, यूएसए तथा सिंगापुर के चिकित्सकों से ऑनलाइन सम्बद्ध रहेंगे और गम्भीर आकस्मिक चिकित्सीय आवश्यकता के समय समाधान निकालने के लिए आपसी वार्ता कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि इस प्रशिक्षण का उद्देश्य आकस्मिक मृत्यु को कम करना, अस्पतालों में लम्बे समय तक भर्ती कम करना, छोटे अस्पतालों से बड़े अस्पतालों में रिफर करने की संख्या घटाना है।

इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जीएम ट्रेनिंग डॉ. अनिल मिश्रा, डीन ऑफ स्किल स्कूल केजीएमयू डॉ. अजय सिंह, ईसीएमएस के डायरेक्टर्स तथा प्रदेश के आकस्मिक चिकित्सा अधिकारी उपस्थित थे।

Check Also

RBI

RBI ने मानी सरकार की ये मांगे, 2 दिन बाद सिस्टम में डालेगा इतने करोड़ रुपए

बिजनेस डेस्क. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) और सरकार के बीच कई दिनों से जारी खींचतान ...