हमारी सरकार में जातीय जनगणना के आधार पर मिलेगा आरक्षणः शिवपाल यादव

shivpal yadav

लखनऊ. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) जातिगत जनगणना के आधार पर आरक्षण की पक्षधर है और यदि हमारी सरकार आई तो कानून लाकर जातिगत जनगणना व उसपर आधारित आरक्षण को लागू किया जाएगा। ये बातें प्रसपा के अध्यक्ष शिवपाल यादव ने रमाबाई आंबेडकर रैली में कही हैं।

शिवपाल यादव ने आगे कहा कि भाजपा सरकार गरीब, पिछड़ों व दलित के नाम पर सत्ता में आई थी, लेकिन सरकार ने इन सभी का वोट लेकर उन्हें केवल छला है। उनके हित में कोई काम नहीं किया और यही वजह है कि आज गरीब, पिछड़ों, दलित व अल्पसंख्यक समाज का देश और प्रदेश की तमाम पार्टियों से मोहभंग हो गया है।

शिवपाल यादव ने आगे कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा ने हर साल 2 करोड़ रोजगार देने का वादा किया था, लेकिन उन्हीं के आकड़ें बताते हैं कि केवल साढ़े चार लाख लोगों को रोजगार मिला। लाखों नौजवान बीटेक और बीएड करके घर बैठे हैं मगर कहीं बहाली नहीं है। भाजपा ने राजनीति को सोशल मीडिया पर भेजे जाने वाले प्रोपेगैंडा में ही इन छात्रों को उलझा दिया है।

भाजपा बड़े-बड़े वादे कर सरकार में आई थी। आज बेरोजगारी का क्या आलम है यह किसी से छुपा हुआ नहीं है। सरकार नौकरियां नहीं दे पा रही है और शिक्षकों,आंगनवाडी महिलाओं को लाठियों से पीटा जा रहा है और दूसरी ओर उत्तर प्रदेश में प्राइवेट इन्वेस्टमेंट भी कानून व्यवस्था एवं मूलभूत आधार रचना के आभाव में नहीं आ पा रहा है। इस कारण युवाओं को नौकरिया नहीं मिल पा रही हैं और उत्तर प्रदेश विकास की दर में भी गिरावट आ रही है। बेरोजगार ही नहीं, बल्कि सरकारी कर्मचारियों के हितों पर भी डाका डाला जा रहा है। बुढ़ापे का सहारा छीना जा रहा है। हमारी यह बहुत स्पष्ट मांग है कि पुरानी पेंशन की बहाली की जाए एवं 15-20 वर्षों से संविदा पर कार्य कर रहे संविदा कर्मियों का समायोजन किया जाए।

पत्रकारों के लिए शिवपाल की मांगे

शिवपाल यादव ने कहा कि हमारी सरकार से ये भी मांग है कि हमारे पत्रकार साथियों की पुरानी मांगे जैसे कि आवास हेतु भूमि एवं पेंशन योजना का लाभ भी शीघ्र नीति बनाकर उपलब्ध कराया जाए।