भारतीय जनता पार्टी दलितों की असली पार्टीः डॉ. दिनेश शर्मा

लखनऊ. भारतीय जनता पार्टी ने अनुसूचित जाति की छोटी-छोटी जातियों को अपने पाले में कर बसपा अध्यक्ष मायावती को चुनौती देने की तैयारी कर ली है। यही वजह है कि प्रदेश की करीब 60 अति दलित जातियों के प्रतिनिधि सम्मेलन में उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा न केवल मुख्य अथिति रहे, बल्कि भाजपा को दलितों की असली पार्टी बताया। साथ ही ये संकेत भी दिया कि ऐसे कार्यक्रम होते रहेंगे।

प्रतिनिधि सम्मेलन को संबोधित करते हुए उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि भाजपा में ही अनुसूचित जाति के सबसे अधिक सांसद, विधायक, मेयर और पार्षद हैं। ऐसे में यह साबित हो चुका है कि भाजपा ही दलितों की असली पार्टी है। जिन दलित जातियों को किसी पार्टी ने सम्मान नहीं दिया, उन्हें भाजपा न केवल सदन भेज रही है, बल्कि मंत्री भी बना रही है। डॉ. शर्मा ने राहुल गांधी पर जनेऊधारी होने का ठोंग करने का आरोप लगाते हुए कहा कि राम ने सभी को गले लगाकर एक किया था। राहुल गांधी हिन्दू और मुसलमानों को भड़का रहे हैं। समाजवादी पार्टी और बसपा को लेकर दिनेश शर्मा ने ये भी कहा कि यदि इनके साथ कांग्रेस भी मिल जाए, तो भाजपा को हरा नहीं सकती। ये केवल लुकाछुपी का खेल खेल रहे हैं।

दलित बंधुआ मजदूर नहींः डॉ. लालजी प्रसाद निर्मल

कार्यक्रम के संयोजक रहे अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के चेयरमैन व दर्जा प्राप्त मंत्री डॉ. लालजी प्रसाद निर्मल ने कहा कि भाजपा ने पहली बार फुटकर दलित जातियों को सम्मान दिया है। यह चमत्कार नहीं है तो क्या है कि जिन जातियों को कोई नहीं पूछ रहा है, भाजपा उनको लेकर सम्मेलन कर रही है। आज हजारों दलित प्रतिनिधि यह बताने के लिए आए हैं कि वह अब किसी राजनीतिक पार्टी के बंधुआ मजदूर नहीं हैं। समाज के इस रेजगारी वोटरों को भाजपा महत्व दे रही है, तो इन जातियों को भी भाजपा को जिताने के लिए जी जान से जुटना है।

कार्यक्रम में अनुसूचित जाति एवं जनजाति आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामाशंकर कठेरिया ने कहा कि भाजपा के राज में अपराध कम हो रहा है। अपराधी डरे हुए हैं। आम आदमी की जरूरतों को पूरा करने की कोशिश सरकार कर रही है। दलित समाज की हर जाति का बराबर ध्यान दिया जा रहा है।

प्रतिनिधि बैठक में मोहनलाल गंज के सांसद व अनुसूचित जाति के प्रदेश अध्यक्ष कौशल किशोर समेत कई नेताओं ने अपनी बात रखी। इस दौरान पूरे प्रदेश से आए अति दलित समाज के 1000 से अधिक प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

Check Also

अजिंक्‍य रहाणे

3 साल बाद रहाणे ने की ऐसी बल्लेबाजी, टीम इंडिया की टेंशन दूर हुई !

डेस्क. टीम इंडिया के उपकप्‍तान अजिंक्‍य रहाणे को पिछले काफी समय से अपने खराब प्रदर्शन ...