असिस्टेंट प्रोफेसर परीक्षा में सिर्फ 3 दिन बाकी, नहीं होगी माइनस मार्किंग !

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा चयन आयोग यानी UPHESC की ओर से 15 दिसंबर को प्रस्तावित असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती की लिखित परीक्षा में माइनस मार्किंग नहीं रहेगी। हालांकि यह परीक्षा विषम परिस्थितियों में हो रही है। परीक्षा दूसरे दिन ही प्रयागराज में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दौरा प्रस्तावित है। सारा प्रशासनिक अमला वीवीआईपी के प्रशासनिक इंतजाम पूरा करने में लगा है।

UPHESC

दो खंडों में होगा प्रश्नपत्र

प्रश्नपत्र को दो खंडों में रखा गया है जिसमें एक खंड सामान्य अध्ययन के 30 प्रश्नों और दूसरा विषय पर आधारित 70 प्रश्नों का रहेगा। परीक्षा के लिए UPHESC ने सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। अशासकीय महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती के लिए विज्ञापन 47 के तहत लिखित परीक्षा 15 दिसंबर को है।

परीक्षा दो घंटे की होगी, इसका पूर्णांक 200 अंकों का होगा और अभ्यर्थियों को दो खंडों में कुल 100 प्रश्नों के उत्तर OMR शीट पर गोले को काले पेन से भरकर देने होंगे। यानी प्रत्येक प्रश्न दो अंकों का होगा। अभ्यर्थियों के लिए सबसे बड़ी राहत वाली बात माइनस मार्किंग का न होना है। परीक्षा के बाद उत्तर पुस्तिकाओं का मॉडरेशन UPHESC कराएगा।

जैसे-तैसे असिस्टेंट प्रोफेसरों की भर्ती परीक्षा

अशासकीय महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसरों की भर्ती के लिए 15 दिसंबर को प्रस्तावित लिखित परीक्षा विषम परिस्थितियों में होगी। इम्तिहान के ठीक दूसरे दिन प्रयागराज में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन को लेकर तैयारी हो रही है और इसमें पूरा प्रशासनिक अमला इंतजामों में जुटा रहेगा।

प्रधानमंत्री का आगमन 16 दिसंबर को प्रस्तावित है। उप्र उच्चतर शिक्षा सेवा चयन आयोग यानी UPHESC के लिए सेक्टर और स्टैटिक मजिस्ट्रेट मिल पाना मुश्किल हो रहा है।

परीक्षा को अब महज 3 दिन ही शेष

UPHESC की ओर से परीक्षा कराने के लिए प्रशासनिक मुखिया के तौर पर नोडल अधिकारी फाइनल नहीं हो सके हैं। 15 दिसंबर को पहले चरण की परीक्षा में 15130 अभ्यर्थी पंजीकृत हैं और 23 केंद्रों के अनुसार प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर औसतन 650 अभ्यर्थियों की संख्या रहेगी।

शहर के स्कूलों में हो रही इस परीक्षा के लिए UPHESC की ओर से सेक्टर व स्टैटिक मजिस्ट्रेट की ड्यूटी लगनी है लेकिन, प्रशासनिक अधिकारियों का टोटा भी परेशानी का कारण बन रहा है।

16 दिसंबर को प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रम को लेकर प्रयागराज ही नहीं, आसपास के जिलों से भी प्रशासनिक अधिकारी बुलाए जाएंगे जबकि UPHESC को सेक्टर व स्टैटिक मजिस्ट्रेट उपलब्ध कराने के लिए जिला प्रशासन की ओर से अधिकारी मिलने मुश्किल भी हैं, क्योंकि 15 तारीख से रिहर्सल के साथ शहर में भी ड्यूटी लगनी है।

OMR दो प्रतियों में

सचिव वंदना त्रिपाठी का कहना है कि मुश्किलों का सामना तो करना पड़ रहा है लेकिन, इंतजाम समय रहते हो जाएगा। कहा कि परीक्षा में किसी प्रकार का व्यवधान न होने पाए इसकी पूरी कोशिश है।

विज्ञापन संख्या 47 के तहत असिस्टेंट प्रोफेसर के 1150 पदों पर चयन के लिए लिखित परीक्षा में अभ्यर्थियों को OMR शीट दो प्रतियों में ही मिलेगी। जबकि पालीवाल समिति ने बहुविकल्पीय माध्यम से होने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए OMR तीन शीट में होने की अनुशंसा की है।

असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती के लिए लिखित परीक्षा केवल एक पाली में दिन में 11 से एक बजे तक यानी दो घंटों की होगी। UPHESC ने यह समय इसलिए निर्धारित किया है जिससे दूरदराज के जिलों से आने वाले अभ्यर्थी एक दिन पहले अपने जिले से रवाना होंगे तो प्रयागराज परीक्षा के समय तक पहुंच जाएं।

Check Also

BJP ने दिया लोकसभा चुनाव लड़ने का ऑफर, वीरु ने दिया यह जवाब

New Delhi. भारत के पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी वीरेन्द्र सहवाग ने निजी कारणों का हवाला देते ...