उमरा करने वाले जायरीनों पर सऊदी अरब की सरकार हुई मेहरबान, बनाया ये नया ड्रीम प्रोजेक्ट

सऊदी अरब सरकार ने उमरा करने वाले जायरीनों के लिए एक बड़ा तोहफा दिया है. सऊदी में अब उमरा करने वाले जायरीनों को कहीं भी घूमने फिरने की आजादी होगी. इसके लिए अब उन्हें कोई भी अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा.

बताया जा रहा है कि सऊदी सरकार ने देश में पर्यटन को बढ़ाने और अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए ये फैसला लिया है. जानकारों का कहना है कि सऊदी सरकार ने एक नया ड्रीम प्रोजेक्ट बनाया है. इसके तहत 2030 तक हर साल उमरा करने वाले जायरीनों की संख्या 80 लाख से 3 करोड़ तक पहुंचाना है. इसी विजन को ध्यान में रखते हुए सऊदी सरकार ने हाल ही में दुनियाभर के देशों के हज कोटे में बढ़ोतरी की है.

अब तक सिर्फ इन जगह जाने की थी इजाजत
बता दें कि अब तक 80 फीसदी उमरा करने वाले जायरीनों को मक्का के अलावा मदीना, मुनव्वार औऱ जेद्दा जाने की इजाजत होती थी. वहीं, दूसरे राज्यों में जाने के लिए उन्हें अतिरिक्त शुल्क देकर वीजा लेना पड़ता था. लेकिन अब सऊदी सरकार ने उमरा जायरीनों को कहीं भी घूमने-फिरने की इजाजत दे दी है. सऊदी सरकार के इस फैसले के बाद वहां के प्रमुख धार्मिक व ऐतिहासिक स्थलों, पर्यटन केंद्रों और शॉपिंग सेंटरों में जाने की छूट रहेगी. सऊदी हुकूमत को उम्मीद है कि वीजा का दायरा बढ़ाने के बाद हज और उमरा करने वालों की संख्या बढ़ेंगी. पिछले साल भारत से 60 से ज्यादा भारतीय उमरा करने गए थे.

Check Also

दिन प्रति दिन खराब होती जा रही पाक की आर्थिक हालात, नेपाल व भूटान को गरीबी में झोडा पीछे

पाकिस्तान के आर्थिक हालात (Pakistan Weak Economy) दिन प्रति दिन खराब होते जा रहे है. ...