जानिए कैसे पूरी दुनिया पर पड़ेगा, सऊदी अरब के ऑयल प्लांट पर ड्रोन हमले का असर

यमन के अंसल अल्लाह मुवमेंट (हुती विद्रोहियों) ने बुधवार को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के शहर दुबई और अबु धाबी में हमले की धमकी दी है। हुती विद्रोहियों ने गत शनिवार सऊदी अरब के दो पेट्रोलियम रिफाइनरी में हुए ड्रोन हमले की जिम्मेदारी ली थी और अब उसने यूएई के शहरों में हमले की चेतावनी दी है।

हुती के प्रवक्ता जनरल याहया सारिया ने चैनल को बयान देते हुए कहा, “हम पहली बार खुले तौर पर यह घोषणा करते हैं कि यूएई के कई शहर हमला करने के लिए हमारी सूची में है। हम सही समय पर इन शहरों पर हमला करेंगे।”

सऊदी के अबकीक और खुरईस पेट्रोलियम रिफाइनरी में हुए हमले के बाद पेट्रोलियम उत्पादन में कमी आ गयी है। उल्लेखनीय है कि हौथी ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी लेकिन अमेरिका ने इसके पीछे ईरान का हाथ होने के संकेत दिए थे।

सऊदी अरब के ऑयल प्लांट पर हमले का असर पूरी दुनिया पर पड़ेगा

ईरान ने हालांकि अमेरिका के आरोप को खारिज कर दिया था लेकिन वहां के राष्ट्रपति हसन रुहानी ने कहा कि यह हमला उन लोगों के लिए चेतावनी है जिन्होंने यमन में युद्ध शुरु किया है।

पोंपियो और सऊदी प्रिंस ने ड्रोन हमले के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराया
वहीं दूसरी ओर, अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियोऔर सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के बीच हुई बैठक में दोनों नेताओं ने सऊदी में पेट्रोलियम रिफाइनरी में हुए ड्रोन हमले के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराए जाने पर सहमति जतायी।विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोर्गन ओतार्गुस ने बयान जारी कर इसकी जानकारी दी।

ओतार्गुस ने कहा कि पोम्पियोने सऊदी क्राउन से गुरुवार (19 सितंबर) को मुलाकात की। उन्होंने कहा, “दोनों नेताओं के बीच बैठक के दौरान ईरानी सरकार के रवैये और उसके कारण उत्पन्न हुए खतरे को देखते हुए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ आने की जरुरत पर चर्चा की।”

Check Also

दिन प्रति दिन खराब होती जा रही पाक की आर्थिक हालात, नेपाल व भूटान को गरीबी में झोडा पीछे

पाकिस्तान के आर्थिक हालात (Pakistan Weak Economy) दिन प्रति दिन खराब होते जा रहे है. ...