हरिद्वार को छोड़ शेष 12 जिलों के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में भाजपा ने तैयार किया ये पैनल

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 व 35-ए हटाने के बाद बने माहौल को पंचायत चुनाव में भुनाने के लिए प्रदेश भाजपा तैयारियों में जुट गई है। हरिद्वार को छोड़ शेष 12 जिलों में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए पार्टी ने जिला पंचायत सदस्यों का पैनल तैयार करने का निर्णय लिया है। इस सिलसिले में पार्टी जिलों में पर्यवेक्षक भेजेगी। ये पर्यवेक्षक 16 से 18 सितंबर तक जिलों में डेरा डालेंगे। इससे पहले 14 सितंबर को पंचायत चुनाव को लेकर पार्टी ने बैठक बुलाई है।

भाजपा की पंचायत चुनाव के लिए गठित प्रदेश स्तरीय चुनाव संचालन समिति के संयोजक एवं शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने प्रदेश मुख्यालय में चुनावी तैयारियों की समीक्षा की। भाजपा के प्रदेश महामंत्री खजानदास के अनुसार बैठक में तय किया गया कि फिलहाल जिला पंचायत सदस्यों का पैनल तैयार किया जाएगा। इसके लिए सभी 12 जिलों में तीन सदस्यीय पर्यवेक्षक भेजने का निर्णय लिया गया।

इससे पहले 14 सितंबर को पंचायत चुनाव को लेकर प्रांतीय स्तर की बैठक बुलाई गई है। इसके बाद 16 सितंबर से 18 सितंबर तक जिलों में पर्यवेक्षकों की टीम जिपं सदस्यों का पैनल तैयार करेगी। संभावित दावेदारों की जमीनी पकड़ समेत अन्य बिंदुओं के आधार पर पैनल तैयार किया जाएगा।

बैठक में भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष ज्योति प्रसाद गैरोला, प्रदेश महामंत्री अनिल गोयल व खजानदास, दायित्वधारी नरेश बंसल, पूर्व ब्लाक प्रमुख नीरू देवी, प्रदेश मंत्री कुलदीप कुमार मौजूद थे।

उधर, अनुच्छेद 370 व 35-ए हटने के बाद देशभर में बने माहौल को देखते हुए भाजपा इसे यहां पंचायत चुनाव में भुनाने की जुगत में जुट गई है। पार्टी के प्रांतीय महामंत्री खजानदास ने कहा कि पंचायत चुनाव में निश्चित रूप से इस ऐतिहासिक फैसले का लाभ पार्टी को मिलेगा।

उन्होंने बताया कि चुनाव के दौरान केंद्र सरकार की सौ दिन की उपलब्धियों के साथ ही राज्य सरकार की उपलब्धियों को जनता के बीच रखा जाएगा। उन्होंने दावा किया कि राज्य की जनता भाजपा के साथ मुस्तैदी से खड़ी है और त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों में पार्टी का परचम फहराएगा।

Check Also

देहरादून के इस क्षेत्र में पहली बार पहुंची सड़क, ग्रामीणों ने मनाया जोरदार तरीके से जश्न

देहरादून सड़क सुविधा से वंचित चकराता ब्लॉक के सुदूरवर्ती बोंदूर क्षेत्र के कांडी गांव में ...