उत्तराखंड में सुबह से ही मसूरी में बारिश ने कर दिया हाल-बेहाल, यमुनोत्री हाईवे हुआ बंद

उत्तराखंड में रविवार को कई जिलों में बारिश के आसार हैं। सुबह से ही मसूरी में बारिश ने हाल-बेहाल कर दिया है। भारी बारिश के कारण पर्यटकों को खासी परेशानी उठानी पड़ रही है। उधर, यमुनोत्री धाम समेत पूरी घाटी में बादल छाए हुए हैं।

यमुनोत्री हाईवे रानाचट्टी और स्यानाचट्टी के बीच मलबा आने से बंद हो गया है। प्रशासन की टीम मौके पर न पहुंच पाने के चलते लोग खुद ही मलबा हटाने में जुट गए हैं। उधर, रुद्रप्रयाग में भी बारिश से कई जगह स्थिति खराब बनी हुई है। केदारनाथ में भी रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाईवे फाटा में मलबा आने से बंद हो गया है।

वहीं, मौसम केंद्र ने राजधानी दून समेत अधिकांश इलाकों में गरज और चमक के साथ बारिश पड़ने का अलर्ट जारी किया है। मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि प्रदेश के मैदानी क्षेत्रों में अगले चार से छह दिनों के दौरान अधिकतम तापमान सामान्य से तीन से पांच डिग्री तक अधिक रह सकता है। वहीं पहाड़ी इलाकों में बारिश के आसार बने रहेंगे।

ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे देर रात खुला
ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे पर सेंसारी गदेरे के समीप पहाड़ी से भूस्खलन होने के कारण शनिवार को हाईवे यातायात के लिए बाधित हो गया था। देर शाम तक आवाजाही ठप होने से दोनों ओर वाहनों की लंबी लाइनें लगी रहीं।

कंडीसौड़ से 12 किमी आगे उत्तरकाशी की तरफ सेंसारी गदेरे के समीप पहाड़ी से भूस्खलन होने से भारी मात्रा में मलबा और बोल्डर सड़क पर आ गिरे, जिससे ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे पर वाहनों का संचालन पूरी तरह से बंद हो गया था।

हाईवे खाेलने के लिए कई जेसीबी लगाई गई थीं। जिसके बाद देर रात को हाईवे यातायात के लिए खोल दिया गया, लेकिन हाईवे पर आवाजाही अब भी खतरे से खाली नहीं है।

Check Also

देहरादून के इस क्षेत्र में पहली बार पहुंची सड़क, ग्रामीणों ने मनाया जोरदार तरीके से जश्न

देहरादून सड़क सुविधा से वंचित चकराता ब्लॉक के सुदूरवर्ती बोंदूर क्षेत्र के कांडी गांव में ...