घर में घुसकर युवती के साथ किया…

मोदीनगर के भोजपुर थानाक्षेत्र के एक गांव निवासी एक युवती का किडनैपिंग कर उसे मादक पदार्थ सुंघाकर सामूहिक बलात्कार कर अश्लील वीडियो बनाने का मुद्दा सामने आया है.युवक वीडिये वायरल करने की धमकी देकर युवती को ब्लैकमेल कर रहे हैं. युवती ने आईजी मेरठ  वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को लेटर लिखकर न्याय की गुहार लगाई है. भोजपुर थानाक्षेत्र के एक गांव में एक आदमी परिवार सहित रहता है. उक्त आदमी के मकान पर तीन वर्ष पहले दूसरे गांव का एक युवक दूध लेने आता था. आरोप है कि उसी दौरान युवक ने उसकी 16 वर्षीय किशोरी से तमंचे के बल पर बलात्कार कर वीडियो बना लिया. इसके बाद वह वीडियो वायरल करने की धमकी देकर किशेारी के साथ लगातार बलात्कारकरता आ रहा है. आरोप है कि इसी वर्ष 24 अप्रैल को वह युवती खेत में गेहूं काटने जा रही थी. इस दौरान युवक ने युवती का किडनैपिंग कर लिया  गन्ने के खेत में ले गया. आरोपी ने अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर युवती को मादक पदार्थ सुंघाकर उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया  फिर से वीडियो बना ली. इसके बाद तीनों आरोपी सामूहिक बलात्कार करने के बाद युवती को कार में डालकर पिलखुवा ले गए. पिलखुवा में युवती को एक मकान के अंदर ले जाकर दोबारा सामूहिक बलात्कार किया. किसी तरह युवती अपने घर पहुंची परिजनों को आपबीती सुनाई.

परिजनों ने भोजपुर थाने में तहरीर दी है. पुलिस ने इसे पिलखुवा का मुद्दा बताकर टरका दिया. युवती ने मेरठ आईजी  वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को लेटर लिखकर न्याय की गुहार लगाई है. सीओ मोदीनगर केपी मिश्रा ने बताया कि ऐसा कोई मुद्दा उनके संज्ञान में नहीं है. यदि कोई शिकायत आती है तो रिपोर्ट दर्ज कर कठोर कार्रवाई की जाएगी.

घर में घुसकर युवती से बलात्कार का प्रयास

मुरादनगर. एक गांव में सोमवार प्रातः काल घर में घुसकर एक युवक ने युवती के साथ बलात्कार का कोशिश किया. विरोध करने पर युवक ने युवती की पिटाई कर दी. पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरु कर दी है. एक गांव में सोमवार प्रातः काल परिवार के लोग बाहर गए थे  लडक़ी घर पर अकेली थी. आरोप है कि इसी बीच एक युवक दीवार फांदकर घर में घुस आया. इसके बाद उसने युवती से छेड़छाड़ करनी प्रारम्भ कर दी. युवक ने उसके साथ बलात्कार का कोशिश किया. विरोध करने पर युवक ने युवती को हाथापाई कर घायल कर दिया. पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है.

Check Also

उत्तराखंड के इतिहास में पहली बार लिखी जा रही इतनी बड़ी एफआईआर, मामला है इस योजना के फर्जीवाड़ा का

उत्तराखंड में गम्भीर बीमारी से ग्रस्त मरीजों को प्रति वर्ष 5 लाख रुपए तक की ...