तुर्की सरकार: जल्द ही मनाया जाएगा वृक्षारोपण दिवस…

एनस साहिन के ट्विटर अकाउंट पर सिर्फ 212 पोस्ट हैं, लेकिन उसकी एक पोस्ट ने उन्हें हीरो बना दिया है. मेरे पास एक आइडिया है से प्रारम्भ होने वाली उसकी पोस्ट इतनी वायरल हुई कि उस पर 55 हजार से अधिक कमेंट आ गए. इतना ही नहीं इस पोस्ट ने तुर्की सरकार का ध्यान भी खींच लिया. इसकी वजह से ही अब तुर्की में जल्द ही एक दिन राष्ट्रीय वृक्षारोपण दिवस के रूप में मनाया जाएगा  इस दिन राष्ट्रीय छुट्‌टी होगी. साहिन ने ट्विटर हैंडल से लिखा है था कि ‘हम संसार के लिए एक उदाहरण पेश करें  आने वाली पीढ़ियों को एक हराभरा देश सौंपें.

ट्वीट में लिखा था, तुर्की में पेड़ लगाने कुछ नहीं हो रहा
दुनिया के कई राष्ट्रों में पेड़ लगाने के लिए एक दिन समर्पित है. कई राष्ट्रों ने अपने-अपने हिसाब से इसके लिए व्यवस्था की हुई है. ऑस्ट्रेलिया, केन्या, उत्तर कोरिया  ईरान जैसे देश भी वृक्षारोपण के लिए कुछ न कुछ कर रहे हैं. लेकिन, तुर्की में अभी तक सरकारी स्तर पर वृक्षारोपण को बढ़ावा देने के लिए कुछ भी नहीं हो रहा है.

राष्ट्रपति ने कहा- यह महान आइडिया
साहिन के इस ट्वीट को तुर्की में निर्वाचित सबसे युवा डिप्टी रुमेस्या कडक ने देखा. उन्होंने जवाब दिया कि उसके इस आइडिया को वह सरकार के सामने रखेंगी. लेकिन इसके कुछ घंटों के भीतर ही तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगन ने साहिन को ट्विटर पर जवाब दे दिया. राष्ट्रपति ने बोला कि ‘एनस यह एक महान आइडिया है. हमने हमेशा एक हरे-भरे तुर्की के लिए कार्यकिया है  आगे भी ऐसा करते रहेंगे. मेरे दोस्त  मैं यह जिम्मेदारी लेते हैं कि हमारा भी एक राष्ट्रीय वृक्षारोपण दिवस हो.

लोगों पर दिखा असर, पेड़ लगाने आगे आए
इसके जवाब में साहिन ने लिखा कि ‘राष्ट्रपति महोदय हम खुश है कि आपने हमारे आह्वान पर जवाब दिया. हम आपके आभारी है कि आप सैकड़ों हजार युवाओं की आवाज हो.‘ तुर्की में वृक्षारोपण के लिए अवकाश घोषित होने से पहले ही इस ट्वीट का यह प्रभाव हुआ है कि लोग खुद ही पेड़ लगाने के लिए आगे आ रहे हैं.

भारत के दो प्रदेशों ने पेड़ लगाने में बनाए रिकॉर्ड
दुनिया में बड़े पैमाने पर पेड़ लगाने का चलन अब बढ़ने लगा है. 2016 में हिंदुस्तान के यूपी में एक ही दिन में चार करोड़ 93 लाख पौधे लगाकर रिकॉर्ड बनाया गया था. इस रिकॉर्ड को अगले वर्ष ही मध्य प्रदेश ने तोड़ दिया था.

 

Check Also

बाढ़ व भूस्खलन में जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों को मिलेगा…

नेपाल में भूस्खलन व बाढ़ से अब तक 65 लोगों की मृत्यु हो चुकी है. 38 जख्मी हैं. गुरुवार शाम से ...