‘जय श्री राम’ का नारा न लगाने पर मौलवी के साथ करने लगे…

न लगाने पर एक संप्रदाय के लोगों की पिटाई का मुद्दे लगातार बढ़ते जा रहें हैं इसी कड़ी में बागपत का नाम भी जुड़ गया है आरोप है कि बाइक से अपने घर जा रहे मौलवी को दर्जनभर युवकों ने रोक दिया  जबरन लगाने का दबाव बनाया  जब मौलवी ने ऐसा करने से मना किया तो फिर उनकी बेरहमी से पिटाई की गई  टोपी गिराने दाढ़ी पर हाथ डालने का भी कोशिश किया गया मौलवी की पिटाई होती रही  भीड़ तमाशबीन बनी रही, जिसके बाद जैसे-तैसे मौलवी ने भागकर जान बचाई मौलवी इमलाउर रहमान ने बताया कि “रविवार की रात जब वह के सरोरो गांव के पास पहुंचे तो रास्ते में 10/12 लड़के मिले, जो कि पहले से ही रोड पर तैयार थे वह सभी गाड़ी के सामने आकर खड़े हो गए जिसके बाद उन्होंने मुझसे हाथापाई करना प्रारम्भ कर दी उसके बाद दाढ़ी टोपी पर भी हाथ डाला उन्होंने मुझे जय श्री राम की नारेबाजी करने के लिए कहा उसके बाद जब मैंने इन चीजों की मना की तो वो जो फावड़ा लिए हुए थे उसको लेकर मुझे जान से मारने के लिए आ गए जिसके बाद मैं बहुत कठिन से अपनी जान बचाकर वहां से भाग निकला कुछ देर बाद जब वो वहां से चले गए तो मैं अपनी बाइक लेकर वापस चौकी आया  साथ ही अपने दोस्त को फोन किया

इस घटना की जानकारी उनके परिवार को मिली तो उनमें भी आक्रोश फैल गया परिवार के लोगों का बोलना है कि कुछ लोग माहौल बेकार करने पर तुले हैं  ऐसे लोगों पर कठोरएक्शन होना चाहिए मेरे भाई को जबरन लगाने के लिए विवश किया गया  जब उसने मना किया तो उसे बुरी तरह पीटा गया ऐसे लोगों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई होनी चाहिए वहीं इस पर बागपत पुलिस का बोलना है कि वह मुद्दे की जाँच करेंगे  आरोपियों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी

इमलाउर रहमान का बोलना है कि कुछ चुनिन्दा लोग होते हैं जो इस तरह की घटिया हरकतें करते हैं  दंगा फसाद फैलाकर माहौल बेकार करने की प्रयास की जा रही है इससे भारतकी छवि बेकार हो सकती है 2013 में भी एक ऐसी ही घटना हुई थी, उसके बाद हमें 5/6 वर्ष का समय लगा इससे बाहर निकलने में हमारे आबादी 40 हजार की है  40 हजार में तकरीबन 1500 गैर मुस्लिम हैं उनसे भी हम इतने भाई चारे से रखते हैं कि आज तक उनके साथ कोई जरा सी बात नहीं हुई है

इमलाउर रहमान के भाई ने बोला कि ‘मारपीट करने वाले ये लोग चाहे वो बजरंग के हो या किसी भी लाइन के हों, किसी महकमे के हों उन्होने मेटे भाई के साथ हाथापाई की, उनके सिर से टोपी को उतारा  जय श्री राम के नारे बुलवाना चाहे  फिर उनकी कठोर पिटाई की जब उन्होंने जय श्री राम का नारा लगाने से इन्कार कर दिया तो उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई, जिसके बाद वह जान बचाकर वहां से भाग निकले उनके फोन करने पर जब हम घटनास्थल पर पहुंचे तो देखा तो उनके मुंह से खून निकल रहा था ‘

Check Also

राहुल गाँधी के बाद अब कांग्रेस पार्टी की कमान संभाल सकते हैं ये दिग्गज…

कांग्रेस में राष्ट्रीय अध्यक्ष पद को लेकर तलाश अभी जारी है। सभी विकल्पों पर पार्टी विचार ...