पराजय के बाद राहुल गांधी आज पहली बार करेंगे अमेठी का दौरा,राजनीतिक करियर में…

 राहुल गांधी बुधवार को अमेठी जाएंगे. अमेठी से तीन बार सांसद रहे राहुल गांधी को इस बार बीजेपी प्रत्याशी स्मृति ईरानी ने 55,120 वोटों से हरा दिया था. राहुल अभी केरल के वायनाड से सांसद हैं. पराजय के बाद उनका यह पहला अमेठी दौरा है.राहुल के राजनीतिक करियर में यह पहला मौका होगा, जब वे अमेठी में वहां के सांसद की हैसियत से नहीं, बल्कि किसी अन्य सीट के सांसद के तौर पर जाएंगे.गौरीगंज में बूथ अध्यक्षों से मिलेंगे राहुल
पार्टी के जिला प्रवक्ता अनिल सिंह के अनुसार, राहुल सलोन, अमेठी, गौरीगंज, जगदीशपुर  तिलोई विधानसभा क्षेत्रों के बूथ अध्यक्षों समेतपार्टी प्रतिनिधियों से मिलेंगे. इसके अतिरिक्त राहुल कुछ गांवों का भी दौरा कर सकते हैं.

राहुल ने अमेठी का तीन बार किया प्रतिनिधित्व
राहुल पहली बार अमेठी से 2004 में चुनाव लड़े  जीत दर्ज की थी. वे 2009  2014 में भी यहां से सांसद चुने गए. अमेठी कांग्रेस पार्टी की परंपरागत सीट कही जाती रही है. लेकिन इस मिथक को स्मृति ईरानी ने इस बार तोड़ दिया.

राहुल को अमेठी में मिली पराजय की पार्टी समीक्षा कर चुकी है. सोनिया गांधी के प्रतिनिधि किशोरी लाल शर्मा  प्रियंका गांधी का राजनीतिक कामकाज देखने वाले जुबैर खान ने तीन दिन तक अमेठी में रह कर पराजय की समीक्षा की थी. इसके बाद राहुल के प्रतिनिधि चंद्रकांत दुबे  कांग्रेस पार्टी जिला अध्यक्ष योगेंद्र मिश्रा ने त्याग पत्र दे दिया था. जाँच रिपोर्ट में क्या सामने आया, यह अब तक पार्टी ने सार्वजनिक नहीं किया है.

जीत के बाद तीन बार अमेठी पहुंचीं स्मृति
स्मृति ईरानी जीत के बाद भी अमेठी का तीन बार दौरा कर चुकी हैं. पहली बार वे 26 मई को अमेठी पहुंची थीं, जब उनके करीबी नेता सुरेंद्र सिंह की मर्डर हो गई थी. इस दौरान उन्होंने सुरेंद्र सिंह की अर्थी को कंधा भी दिया था. दूसरी बार वे 22 जून को दो दिन के अमेठी भ्रमण पहुंचीं. इस दौरान उन्होंने एक बीमार महिला को अपनी गाड़ी से अस्पताल पहुंचाया था.इसके बाद वे 6 जुलाई को भी अमेठी गईं.

 

Check Also

उत्तराखंड में पंचायतों को सशक्त करने के बड़े-बड़े दावों के बीच प्रदेश में संविधान के जरिए किया गया ये…

पंचायतों को सशक्त करने के बड़े-बड़े दावों के बीच प्रदेश में संविधान के जरिए सौंपे ...