माॅब लिंचिंग के बाद कारागार में तबरेज अंसारी की माैत का मुद्दा पकड़ रहा हैं तूल…

सरायकेला के धातकीडीह गांव में माॅब लिंचिंग की घटना के बाद कारागार में तबरेज अंसारी की माैत का मुद्दा तूल पकड़ता जा रहा है. गांव के लाेग बहुत ज्यादा दहशत में हैं.गांव की ममता के नेतृत्व में 34 स्त्रियों ने सरायकेला थाने में मुद्दा दर्ज कराया है. प्राथमिकी के अनुसार 24 जून शाम कुछ अज्ञात लाेग चारपहिया वाहन से गांव पहुंचे  स्त्रियों को गालियां देने लगे.आरोपियोंने घर में घुसकर महिलाओंके साथ बलात्कार और लूटपाट करने के साथ बम से उड़ा देने की धमकी दी. वे लाेग जिस वाहन से आए थे, उस पर एआईएमआईएम पार्टी का बोर्ड लगा हुआ था. जाने के दाैरान उनलाेगाें ने पास के मंदिर में लगे झण्डा को क्षतिग्रस्त कर दिया  आफताब अहमद सिद्दीकी जिंदाबाद, असदुद्दीन ओवैसी जिंदाबाद के नारे भी लगाए.महिलाओंने बताया कि उनके जाने के बाद से गांव के लाेग  दहशत में आगए हैं. भय के गांव के सभी पुरुष घर छोड़कर पलायन कर चुके हैं.

बीते 17 जून की घटना के बाद समाज के कुछ तथाकथित ठेकेदार  संगठन उसे अलग रंग देने का कोशिश कर रहे हैं. सोशल मीडिया के माध्यम से तरह-तरह की बातें सामने आरही हैं.पुलिस की धर-पकड़ के खौफ  दहशतगर्दो के भय से गांव के पुरुष छिपते चल रहे हैं. क्षेत्र के बुद्धिजीवियाें ने पुलिस से सोशल मीडिया पर आरही खबराें काे गंभीरता से लेने की मांग की है. बोला है कि साेशल मीडिया पर आरहीं भड़काऊं बाताें पर गाैर करते हुए पुलिस काे ऐसे लाेगाें काे चिह्नित कर कार्रवाई करनी चाहिए. इसके माध्यम से वीडियो वायरल करने पीड़ितों काे एडिट किए जाने की बातें भी सामने आरही हैं.

भाजपाई बाेले- दोनों पक्षों को भड़का रहे बाहरी लोग, गांव में प्रवेश से रोके

जिला बीजेपी अध्यक्ष उदय सिंहदेव ने धातकीडीह गांव का दौरा किया. उन्होंने पुलिस-प्रशासन से निर्दोषों पर की जा रही कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग की. पुलिस सोशल मीडिया पर वायरल हाे रही खबराें के सभी पहलुओं की छानबीन करते हुए गांव में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगाए.

कांग्रेस महिला मोर्चा का आरोप-सरकार के संरक्षण में हो रही ऐसी गतिविधियां

कांग्रेस महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष गुंजन सिंह सरायकेला पहुंचीं  धातकीडीह गांव के बारे में जानकारी ली. प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने बोला कि सरकार के संरक्षण में ऐसी गतिविधियों को बढ़ावा दिया जा रहा है,जिससे प्रदेश में आए दिन घटनाएं घट रही हैं.

 

Check Also

उत्तराखंड में पंचायतों को सशक्त करने के बड़े-बड़े दावों के बीच प्रदेश में संविधान के जरिए किया गया ये…

पंचायतों को सशक्त करने के बड़े-बड़े दावों के बीच प्रदेश में संविधान के जरिए सौंपे ...