मृत शरीर को अस्पताल से बाहर ले जाने की नहीं दी अनुमति,और करने लगे हाथापाई,जानिये पूरा मामला…

पश्चिम बंगाल में शनिवार को डॉक्टरों की हड़ताल का पांचवा दिन है इन सबके बीच एनआरएएस अस्पताल में जिन 75 वर्षीय मोहम्मद सईद के देहांत के बाद बवाल प्रारम्भ हुआ उनके परिजनों ने आरोप लगाया कि उनके साथ हाथापाई हुई परिजनों का दावा है कि हाथापाई करने वालों के विरूद्ध कोई कार्रवाई नहीं की गई उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि मुद्देको सांप्रदायिक रंग देने की प्रयास की गई
सईद के पोते तैयब हुसैन ने बोला कि, हमने परिवार के मेम्बर को खो दिया डॉक्टरों ने हमारे साथ हाथापाई की  सीसीटीवी फुटेज से यह साबित हो जाएगा प्रत्येक नागरिक की न्याय तक पहुंच होनी चाहिए हमारे पांच पड़ोसी अरैस्ट किए गए  अब कारागार में हैं  दोषियों को सजा दी जाए, चाहे वह हमारे पड़ोसी हों या डॉक्टर ‘

तैयब ने बोला कि, ‘हम उस चिकित्सक की चोट पर भी दुखी हैं, जो किसी पत्थर की चपेट में आ गए हम उनके शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करते हैं लेकिन हड़ताल को भी समाप्त की आवश्यकता है हजारों मरीज पीड़ित हैं ‘

अंग्रेजी अखबार द भारतीय एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनसुार,  तैयब ने कहा, ‘सीसीटीवी फुटेज में सब कुछ दिख जाएगा डॉक्टरों ने हम पर हमला किया  हममें से कुछ को पीटा भी गया झड़प एकतरफा नहीं थी हमने परिवार के एक मेम्बर को खो दिया  हम में से एक भावुक हो गया हम में से कोई एक मरीज को दखने के लिए चिकित्सक का हाथ खींच लिया होगा उन्होंने इसे दुर्व्यवहार माना मैंने दो बार माफी मांगी एक बार पुलिसवालों की मौजूदगी में भी माफी मांगी लेकिन डॉक्टरों ने हमारी माफी स्वीकार करने से मना कर दिया ‘

तैयब ने कहा, ‘उन्होंने हमें मेरे दादा के मृत शरीर को अस्पताल से बाहर ले जाने की अनुमति नहीं दी वह हॉकी स्टिक  बांस के डंडे ले आए, जब ये सब हुआ तब पुलिसकर्मी वहां उपस्थित थे ‘

कोलकाता के एनआरएस मेडिकल कॉलेज  अस्पताल में दो जूनियर डॉक्टरों पर हमला होने  उनके गंभीर रूप से घायल होने के बाद पश्चिम बंगाल में जूनियर चिकित्सक मंगलवार से हड़ताल पर हैं

Check Also

शक के चलते उभरती हुई इस मॉडल की बेरहमी से की गई हत्या…

 महाराष्ट्र पुलिस ने एक मॉडल की मर्डर की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है. शनिवार कोयुवती का शवनागपुर-पंडुरना ...