मोदी ने अपने शपथ ग्रहण समारोह में इसलिए नहीं बुलाया अपने परिवार को…

नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल के शपथ ग्रहण समारोह से जुड़े ऐतिहासिक पल के 8000 से ज्यादा देसी-विदेशी अतिथि साक्षी बने. इनमें 14 राष्ट्रों के राष्ट्राध्यक्ष, छहपंजीकृत न से अधिक राष्ट्रों के राजदूत और उच्चायुक्त  देश भर के साधारण से गणमान्य लोग सभी मौजूद थे. मगर इस बार भी उन्होंने अपने परिजनों को शपथ समारोह में नहीं बुलाया. हालांकि इस पर परिजनों को कोई असहमति नहीं है, बल्कि मोदी की बहन बसंती बेन ने बोला कि उनका ज़िंदगी देश को समर्पित हैदरअसल गुजरात में करीब डेढ़ दशक तक सीएम रहते  पिछले पांच वर्ष से पीएम रहते मोदी ने अपने सरकारी आवास  सरकारी आयोजनों से परिवार के सदस्यों को हमेशा दूर ही रखा. मुख्यमंत्री आवास की तरह ही पीएम आवास में भी मोदी अकेले ही रहते हैं. पहले कार्यकाल में उनकी मां हीराबेन कुछ दिनों तक लोककल्याण मार्ग स्थित पीएम आवास में रुकी थीं. खुद पीएम ने इस आशय का खुलासा करते हुए बोला कि मेरी व्यस्तता के कारण मां को यहां मन नहीं लगा. हालांकि पीएम जब भी गुजरात जाते हैं तब अपनी मां  परिजनों से मिलना नहीं भूलते.

पीएम मोदी का गुजरात में बड़ा परिवार है. सबसे बड़े भाई सोमनाथ मोदी वडनगर में वृद्धाश्रम चलाते हैं. अहमदाबाद के घाटलोदिया में रहने वाले दूसरे बड़े भाई अमृत मोदी एक व्यक्तिगत कंपनी में फिटर हैं. छोटे भाई प्रहलाद मोदी की गल्ले की दुकान है. बहन बसंती बेन है. इनका भरापूरा परिवार है. प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी को भाइयों के बेटे-बेटियों से बेहद लगाव है. बहन हर रक्षा बंधन में राखी बांधती है. बड़े त्योहारों या किसी सरकारी आयोजन में गुजरात भ्रमण के क्रम में ही मोदी अपने परिजनों से मिलते हैं.

Check Also

अखिलेश यादव की पार्टी को छोड़ अब बीजेपी में शामिल होंगे ये…

2019 लोकसभा चुनाव में मिली शर्मनाल पराजय व बसपा (बसपा) से मिले धोखे के बाद समाजवादी पार्टी (सपा) अभी ...