संविधान विरोधी 13 POINT रोस्टर के खिलाफ गोरखपुर में भी प्रदर्शन तेज

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

फर्क इंडिया डिजिटल

गोरखपुर. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इलाके गोरखपुर में भी संविधान विरोधी रोस्टर का विरोध तेज हो गया है। विश्वविद्यालय के दलित और पिछड़े वर्ग के छात्र और संगठनों ने प्रदर्शन कर इसे बहुजन विरोधी और अराजकता फैलाने वाला फैसला बताया। पूरे प्रदेश में रोस्टर विरोधी लहर फैलने लगी है। लखनऊ और वाराणसी के बाद गोरखपुर में हो रहे प्रदर्शन ने प्रदेश की भाजपा सरकार को भी परेशान कर दिया है। क्योंकि दो महीने बाद ही लोकसभा चुनाव होने हैं और इस रोस्टर से भाजपा विरोधी लहर और तेज होती जा रही है।

शुक्रवार को दीन दयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के मुख्यद्वार पर सैकड़ों छात्रों ने केंद्र सरकार विरोधी नारे लगाए। इस दौरान यह भी सुप्रीम कोर्ट के 13 प्वांट रोस्टर के फैसले का विरोध किया गया।

विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों की मांग है कि 200 प्वाइंट रोस्टर को तत्काल लागू गिया जाए। यदि केंद्र सरकार यह अध्यादेश नहीं लाती है, तो यह मान लिया जाएगा कि सरकार ने सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण के साथ ही रोस्टर का भी फैसला कोर्ट से करवाया है।

 

Check Also

अखिलेश यादव की पार्टी को छोड़ अब बीजेपी में शामिल होंगे ये…

2019 लोकसभा चुनाव में मिली शर्मनाल पराजय व बसपा (बसपा) से मिले धोखे के बाद समाजवादी पार्टी (सपा) अभी ...