VIDEO: महागठबंधन ने दिखाई ताकत, तो गोरखपुर-फूलपुर जैसा होगा हाल !

नई दिल्ली. समाजवादी पार्टी और बसपा के एक साथ आने से एक बार ये सवाल उठने लगे हैं कि क्या गोरखपुर और फूलपुर से भी खराब स्थिति में भाजपा पहुंच जाएगी। क्योंकि इन दोनों सीटों पर जब उप चुनाव हुए थे, उस समय केंद्र और प्रदेश दोनों ही जगहों पर भाजपा की सत्ता थी, लेकिन आम चुनाव में केंद्र की सत्ता का लाभ भी नहीं मिलेगा।

गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उप चुनाव में दोनों ही सीटों को भाजपा से सपा ने छींन लिया था। जबकि इस दौरान यहां पर बसपा का केवल समर्थन था, कोई गठबंधन नहीं हुआ था।

मायावती और अखिलेश यादव के प्रेस कांफ्रेंस में जो नजारा दिखा वह हैरान कर देने वाला था। हर कोई एक दूसरे से सवाल पूछ रहा था, लेकिन मायावती और अखिलेश यादव से सवाल करने के लिए बड़े-बड़े अखबार के संपादकों के पास भी सवाल नहीं थे।

मायावती ने अपना संबोधन शुरू करते ही मोदी को गुरु और अमित शाह को उनका चेला बताया। उन्होंने ये भी कहा कि ये गुरु और चेले की सरकार है।

Check Also

इन मसलो को उठाने पर,सांसद मनोज तिवारी को मिली जान से मारने की धमकी…

दिल्ली बीजेपी (भाजपा) इकाई के अध्यक्ष व सांसद मनोज तिवारी को जान से मारने की धमकी मिली है। मनोज तिवारी ...