अखिलेश यादव ने किया निराश, तो शिवपाल यादव तलाशने लगे नई राह !

फर्क इंडिया डिजिटल

लखनऊ. Samajwadi Party के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव अब अलग राह तलाश रहे हैं। वह पिछले डेढ़ साल से Samajwadi Party में बिना किसी जिम्मेदारी के हैं। Samajwadi Party के भीतर भी अब चर्चा होने लगी है कि शिवपाल यादव ने पूरी तरह मन बना लिया है और वह कोई अलग राह पकड़ सकते हैं। बस इसके लिए वह सिर्फ अपने बड़े भाई और SP संरक्षक मुलायम सिंह यादव को मनाने में जुटे हैं।

शिवपाल यादव

चुनाव से पहले ले सकते हैं फैसला

शिवपाल यादव के करीबियों का कहना है कि लोकसभा चुनाव से पहले वह कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं, क्योंकि अब इंतजार की सारी सीमाएं पार हो चुकी हैं। शिवपाल ने भी रविवार को अपनी बहन से राखी बनवाने के बाद एक बार फिर बयान दिया है कि उन्हें पार्टी में जिम्मेदारी नहीं मिल रही है। उन्होंने कहा,’ इंतजार करते डेढ़ साल हो चुके हैं, आखिर कितनी उपेक्षा बर्दाश्त की जाए। सहने की कोई सीमा होती है। हालांकि, अब भी मेरी इच्छा है कि सब मिलकर साथ लड़ें।’

दरअसल शिवपाल यादव को उनके बड़े भाई मुलायम सिंह यादव ने पिछले साल ही भरोसा दिलाया था कि SP में उन्हें बड़ी जिम्मेदारी दी जाएगी। पिछले साल जब SP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई तो भी यह तय माना जा रहा था कि उन्हें पार्टी का राष्ट्रीय महासचिव बना दिया जाएगा।

हालांकि, उनके दूसरे बड़े भाई प्रोफेसर Ram Gopal Yadav को प्रधान महासचिव तो बना दिया गया, पर उन्हें कोई जिम्मेदारी नहीं दी गई। इससे वह पहले निराश थे और अब हताश हो चुके हैं।

दूसरे दलों के सम्पर्क में

शिवपाल यादव बीते डेढ़ साल से केवल जिलों में जनसम्पर्क अभियान में जुटे हैं। शायद ही कोई हफ्ता गुजरता हो, जिसमें उनका किसी न किसी जिले में कार्यक्रम न लगा हो। अपने समर्थकों के हर दुख-सुख में वह साथ खड़े हो रहे हैं। उनके एक समर्थक ने तो बाकायदा सेक्युलर मोर्चा भी बना लिया है। वहीं, शिवपाल यादव दूसरे दलों से भी सम्पर्क बनाए हुए हैं।

योगी आदित्यनाथ के सीएम बनने के बाद वह 3 बार उनसे मिल चुके हैं। वह क्षेत्र की समस्याओं को लेकर भी पत्र भी लिखते रहे हैं। उनके करीबियों का कहना है कि शिवपाल के रिश्ते Congress और BJP दोनों में काफी अच्छे हैं।

अटल कलश यात्रा में भी पहुंचे

हाल ही में वह लखनऊ में अटल कलश यात्रा में भी मुलायम के साथ पहुंचे। वहां भी उन्हें BJP नेताओं ने हाथों-हाथ लिया। सीएम योगी के आने पर शिवपाल ने बाकायदा खड़े होकर उनका अभिवादन भी किया।

दूसरी ओर मुलायम सिंह द्वारा बनाया गया लोहिया ट्रस्ट भी पिछले एक महीने से सक्रिय हो गया है। ट्रस्ट के सचिव शिवपाल भी यहां बैठने लगे हैं और अपने कार्यकर्ताओं से मिल रहे हैं।

फोटो-फाइल।।

Check Also

गृहमंत्री अमित शाह ने एक प्रोग्राम को संबोधित करने के दौरान किया ये बड़ा ऐलान

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान होने के साथ ही प्रदेश में चुनावी सरगर्मियां ...