WHATSAPP पर प्रोफेसर ने पत्नी को दिया तलाक, तो बेटी ने दर्ज करवाया केस

अलीगढ़. WHATSAPP पर तलाक देने के एक मामले से रविवार को सिविल लाइन थाने में घंटों जमकर हंगामा हुआ। एएमयू के प्रोफेसर पर पत्नी ने WHATSAPP के जरिए तलाक देने व न्याय की मांग को लेकर शिकायत करने पहुंची थी, लेकिन पुलिस प्रोफेसर का बचाव करती रही।

WHATSAPP

पूरे परिवार को बंधक बनाने का भी केस

पुलिस ने हालांकि बाद में महिला की बेटी की तरफ से प्रोफेसर समेत तीन के खिलाफ पूरे परिवार को बंधक बना जान से मार डालने के प्रयास का मुकदमा दर्ज कर लिया।

थाना सिविल लाइन निवासी यासमीन खालिद की पति खालिद बिन यूसुफ से पिछले काफी समय से अनबन चल रही है। यासमीन ने बताया कि खालिद एएमयू के संस्कृत विभाग के चेयरमैन हैं। वह बीते 18 सितंबर से अलग रह रहे हैं।

आरोप है कि 30 सितंबर को पति ने उन्हें WHATSAPP पर मैसेज भेजा, जिसमें लिखा था कि मैं अपनी पत्नी याशमीन अख्तर पुत्री अब्दुल रहीस को तलाक देता हूं। मैसेज पढ़कर उनके होश उड़ गए।

WHATSAPP पर उर्दू में भी तलाक का मैसेज

इसके बाद दस अक्तूबर को फिर WHATSAPP पर उर्दू में तलाक का मैसेज भेजा गया। पति द्वारा तलाक की दो प्रक्रिया पूरी किए जाने से वह तनाव में आ गईं। यासमीन ने बताया कि हद तब पार हो गई, जब 10 नवंबर को उनके बच्चों पर जानलेवा हमला किया गया।

 

फोटोः प्रोफेसर की पत्नी।

Check Also

उत्तराखंड के इस संस्थान ने की सख्ती, आठवीं कक्षा तक के छात्रों के लिए फोन हुआ प्रतिबंधित

देहरादून के एनआइईपीवीडी में पांचवी के छात्र के साथ सीनियर द्वारा कुकर्म का मामला सामने ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *